You are strong

Giving up doesn’t always mean you are weak, sometimes it means you are strong enough to let go.

Best love shayari forever

Only4u...
Na jane kab milegi dil ko chahat uski..
.Khushiyo se bhar deti hai zindagi ko aane ki aahat jiski..
.Na jane meri mohabbat ko kab wo smjh payegi...
Na jane zmane ko chhod mujhe kab wo apna bnayegi...
Na jane uske khwaabo me kab mera pehra hoga..
.Na jane meri mohabbat ki mehndi ka rang uske hatho pe kab gehra hoga..
.Na jane mere dard ko dekh kab wo muskurana chhondegi...
Na jane kab mujh toote huye ko apne hatho se wo jodegi...
Na jane kab meri khwahisho ko haqeeqat ka naam milega..
.Na jane kab mujh bhatakte huye ko mera mukam milega
...Na jane kab..
.....
.
...
Na jane kab..

Mujhe Mera Pyar Chahiye

Jo bani ho Mere lye
Jis ke lye mai Jee raha hoon
Jo kahe Hum saath hain Tere
Jise dekhne k liye Tarap raha hoon
Ek aisa hi Dildaar chahiye
Bus Mujhe Mera Pyar Chahiye
Aane se jis ke Phool bhi Sharma jaye
Chalne se jis ke Hawa bhi Tham jaye
Ho har Waqt rahe saath mai Mere
Chahe saari Duniya Mujh se Rooth jaye
Aisa hi kisi ka Aitbaar chahiye
Bus Mujhe Mera Pyar Chahiye
Jis ki ek Hansi k liye
Mar jane ko Dil kare
Jo kehde ek baar to
Phir Jeene ko Dil kare
Aisa hi Ek Humsafar chahiye
Bus Mujhe Mera Pyar Chahiye
Ek baar mili thi Mujhe woh
Par pata nahi kaha kho gayi
Ab agar mil jaye toh
use kahi jane na doon
Wohi khoya Yaar chahiye
Bus Mujhe Mera Pyar Chahiye

Mere Dost

Zindagi Ko Ek Rangin Kalapna Samjho
Subah Ko Sach Raat Ko Sapnaa Samjho
Bhulna Chahte Ho Sabhi Ghumo Ko To
Zindagi Me Dosto Ko Apna Samjho..
Aasmaan Humse Naraaz Hain
Taaron Ka Gussa Behisaab Hain
Woh Sub Humse Jalte Hain Kyun Kee
Chaand Se Behtar Dost Hamare Paas Hain…
Ye Dua Hai Hamari Bite Sukh Se Jindagi Tumhari
Dost Muje Pyari Hain Teri Yari
Jiske Liye War Sakta Hun Duniya Sari…
Tum Hamesha Khush Raho, Aisi Wish Hain Hamari
Or Aage Badhate Raho, Aisi Dua Hai Hamari
Tum Jaha Bhi Ho Jaisi Bhi Ho
Ek Din Hame Dhundh Pao, Aisi Khwaish Hai…
Rishto Ki Kitab Ka Cover Hai Aapki Dosti
Aapki Dosti Se Bani Hai Humari Hasti
Khun Ke Rishto Ki Baat Aap Karte Hai
Humare Liye To Zindagi Hai Aapki Dosti

Copyright©
From my WhatsApp

Teri dosti ke naam

Din Hua Hain To Raat Bhi Hogi
Ho Mat Udas To Baat Hogi
Itne Pyar Se Dosti Ki Hain Khudha Ki Kasam
Zindagi Rahi To Mulakat Bhi Hogi…
`
Khushbooan Se Hawaon Se B Milty Nahi Kuckh Log
Mosam Ki Adaaon Se B Milty Nahi Kuckh Log
Mil Jain To Jeven Ko Saja Daity Hain
Agr Bichraian To Duaaon Se B Milty Nahi Kuckh Log…
`
Aansoon Ko Aankhon Ki Dehleez Par Laya Na Karo
Apne Dil Ki Haalat Kisi Ko Bataaya Na Karo
Log Muth-Thi Bhar Namak Liye Ghooma Karte Hain
Apne Zakham Kisi Ko Dikhaaya Na Karo…
`
Mitti Meri Kabar Se Chura Raha Ha Koi
Marr Kar Bhe Yaad Aa Raha Ha Koi
Ya Khuda Ek Pall Ki Zindgi De De Mujhe
Udaas Meri Kabar Se Ja Raha Ha Koi…
`
Kya Tum Maree Chahat Ke Intha Dakho Ge?
Duniya Kitni Veraan Ho Jye Ge?Aazma Kar Dakho Ge?
Aik Bar Kah Kar To Daikh Lo Tum Maree Nahee
To Maree Zindagi Ke Intha Dakho Ge…
`
Kya Ek Hum He Han Jo Kisi Ke Awaaz Ko Tarstay Han
Kya Ek Hum He Han Jo Kisi Ke Yaad May Martay Han
Unko Khabar Nahe K Unkey Call Kay Intzaar May
Kub Say Phone Pay Nazran Jamye Hum Bathay Han
`
Mere Haaton Se Ghir Gayn Lakeeren Kahin
Bhul Ae Ham Apni Takdeeren Kahin
Agar Mile Aap Ko Kahin To Utha Lena
Mere Hisse Ki Sari Khushi Aapne Haaton Pe Sajalena…
`
Kuch Fasle Sirf Ankho Se Hote Hai
Dil Ke Fasle To Bato Me Hote Hai
Hum Lakh Koshish Kare Bhulane Ki
Par Kuch Rishte Sanso Se Hote Hai…
`
Woh Nafrat B Karte Hai Pyar K Liye
Inkar B Karte Hai Ikrar K Liye
Ajib Hote Hai Ye Ishq Karne Wale
ANKHEIN Band Bhi Karte Hai To Didar K Liye…
`
Kagaz Pe Humne Zindagi Likh Di
Ashkon Se Sinch Kar Khushi Likh Di
Dard Jab Humne Ubhara Lafzo Pe
Logon Ne Kaha Wah Kya Gazal Likh Di…

Apko yaad kiya karte hai

Na khuda dil banata na kisise pyar hota,
Na kisiki yaad ati na kisika intazar rhota.
Dil diya hai ise sambhal ke rakhna,
Shishe se bana hai pathar se dur rakhna!
`
Agar hum na hote to ghazal kaun kehta,
Aap ke chehre ko kamal ko kehta,
Yeh to karishma hai mohabbat ka,
Varna pathro ko tajmahal kaun kehta..
`
Chaho to dil se hamko mitta dena
Chaho to humko bhula dena
Par Yeh wada karo ki aaye jo kabhi yaad hamari
To rona nahi Bus muskura dena…
`
Tarasti nazaron ki pyas ho tum,
Tadapte dil ki aas ho tum,
Bujti zindagi ki sas ho tum,
Phir kaise na kahu?.. kuch khas ho tum…
`
Aankhon Me Armaan Diya Karte Hai,
Hum Sabki Neend Chura Liya Karte Hai,
Ab Se Jab Jab Aapki Palkay Jhapkeygi…..
samaj Lena Tab Tab Hum Aapko Yaad kiya karte Hai…..!

Your day will come

Zindagi hasin hai zindagi se pyaar karo,
Hai rat to subah ka intzar karo,
Wo pal b ayega jiska intzar hai aap ko,
Rab pr bhrosa or waqt pe aitbar rakho…

I love you always

Jab Yaad Meri Aye To Rukna Mat
“Mere Paas Laut Aana”
Jab Raat Ka Diya Bhuj Jaye
Or Kuch Saaf Nazar Na Aye
To Darna Mat
“Mere Paas Laut Aana”
Jab Bin Baadal Barsaat Ho Jaye
Or Tumhien Raasta Na Mil Paaye
To Udaas Mat Hona
“Mere Paas Laut Aana”
Jab Saans Ki Dori Toote
Or Koi apna Tumhien Lootey
To Maayoos Mat Hona
Mere Paas Laut Aana
Jab Dil Tumhara Toote
Or Kisi Ka Sath Tum Se Chhoote
To Aanso Mat Bahana
“Meri Paas Laut Aana”
Apni Khushi Se Chor Ke Gayi Ho Tum
Mere Jazbat,Pyar,Aitbar
Ko Tor Ke Gayi Ho Tum
Phir Bhi Meri Yaad Agar Aye
Or Aankhien Tumhari Bher Ayein
To Shermindah Mat Hona
“Mere Paas Laut Aana”
Bas Itna Kehna Chahta Hoon
Ke Hamesha Intizar Karoonga
Is Kaeenat Se Ziada Pyar Karoonga
Magar Jab Tumhien Meri Yaad Aye
To Rukna Mat
“Mere Paas Laut Aana
Copyright©

Changing Circumstances

If u understand these lines, u can change a lot in life.
  "Do not get upset with people or situations.
Both are powerless without your reaction.."
              Good night friends

Independence day special

आओ देश का सम्मान करें , शहीदों की शहादत याद करें , एक बार फिर से राष्ट्र की कमान हम हिंदुस्थानी अपने हाथ धरें . आओ स्वतंत्रता दिवस का मान करे !.
वतन हमारा मिसाल है मोहब्बत की , तोड़ता है दीवार नफरत की , मेरी खुश नसीबी है मिली जिंदगी इस चमन में , भुला ना सके कोई इसकी खुशबू सातों जन्मों में .
मेरी धडकनो में धडकता रहे तु , मेरे देश तुझको नमन है मेरा, जीऊं तो जुबां पर तेरा नाम हो मरूं तो तिरंगा कफन हो मेरा।.
चलो फिर से खुद को जगाते हैं , अनुशासन का डंडा फिर से घुमाते हैं , सुनहरा रंग है गणतंत्र का शहीदों के लहू से , ऐसे शहीदों को हम सब सिर झुकाते हैं ..
कुछ नशा तिरंगे की आन का है , कुछ नशा मातृभूमि की शान का है , हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा , नशा ये हिन्दुस्तां के सम्मान का है ..
मैं भारत बरस का हरदम अमित सम्मान करता हूँ यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ, मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की, तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ
आज़ादी की कभी शाम ना होने देंगे , शहीदों की कुर्बानी बदनामी ना होने देंगे , .बच्ची है जो एक बूंद भी लहू की तब तक भारत माँ का आँचल नीलाम ना होने देंगे !.
ये बात हवाओं को बताये रखना , रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना , लहू दे कर जिसकी हिफाजत हमने की … ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना.

The Youth Nation

The youth of a nation are its real strength. They are full of energy. They have the power to act. Thus they can play a major role in the development of the nation. They can help to increase production in all field of agriculture and industry. They can help in the field of power generation , information technology and space research. In sort, there is no field in which the youth can' play their constructive role. They can translate dreams into reality. The youth are full of idealism. They can use their idealism to fight the evils that are eating into the vital of the nation . These evils include corruption, black marketing, communalism, terrorism, female foeticide and the dowry system. If these evils are eradicated, the nation will start progressing tepidly on the course of development. In fact, the youth are the pillars of the nation. But it is important that these pillars are sturdy and well-build. They should be well-educated and well informed about the latest development in the world. They should be given their due place of honour in society. They should be given their due role in the building of the nation.
 Power by 
Thought Bazzar
And inspirational Thoughts
                                                        Copyright©

A story of my childhood

Stories help develop the imagination and communication skill of children . In childhood, i was fed a large number of stories by parents .most of them were about animals,kings and queens. The characters of those stories coloured my dreams. Here i would like to speak about one such story i still remember . The story was about Two Friends punna And kala. They lived in a village . One Day, they decided to go to the city in search of job . their journey was through a forest. It was night and pitch dark all around .Suddenly , a bear appeared of the way .They both were frightend. There was a big tree nearby . punna knew how to climb a tree and he climbed the tree to escape , leaving kala behind.Kala had no way to escape . He had heard from someone that bear would not attack dead animals.He held his breath and lay still on the ground .The bear came nearer and sniffed. Thinking he was dead , the bear left the place . punna climbed down the tree and enquired what the bear had told him . Kala said the bear had advised him not believe in selfish friends. kala felt ashamed .The story teaches a great lesson that one should be careful in selecting friend and that " A Friend In Need Is A Friend Indeed ".
.
.

.
copyright© 
Power by 
 Thought Bazzar

Dear Friend Do You Know

Some friends come into
  your life for a Reason
& others come for a season

Personality Development Tips

  •  Don't compare your life to others. You have no idea what their journey is all about. 

  •   Don't have negative thoughts or things you cannot control. Instead invest your energy in the positive present moment. 

  •  Don't over do. Keep your limits. 

  •   Don't take yourself so seriously. No one else does. 

  •  Don't waste your precious energy on gossip. 

  •  Dream more while you are awake 

  •   Envy is a waste of time. You already have all you need..

  •  Forget issues of the past. Don't remind your partner with His/her mistakes of the past. That will ruin your present happiness. 

  •   Life is too short to waste time hating anyone. Don't hate others. 

  •  Make peace with your past so it won't spoil the present. 

  •     No one is in charge of your happiness except you. 

  •  Realize that life is a school and you are here to learn. Problems are simply part of the curriculum that appear and fade away like algebra class but the lessons you learn will last a lifetime. 

  •  Smile and laugh more. 

  •   You don't have to win every argument. Agree to disagree...
    Society:

  •  Call your family often. 

  • Each day give something good to others. 

  • Forgive everyone for everything. 

  •  Spend time w/ people over the age of 70 & under the age of 6. 

  •   Try to make at least three people smile each day. 

  • What other people think of you is none of your business. 

  •  Your job won't take care of you when you are sick. Your friends will. Stay in touch.
                                              

  •         This post is mailed me by someone



Success Thoughts in hindi

  • मिनट की सफलता बरसों की असफलता की कीमत चुका देती है .
  • बिना असफलता के सफलता का कोई स्वाद नहीं है . उसकी कोई समझ नहीं है
  • दृढ रहने की इच्छाशक्ति अक्सर सफलता और असफलता के बीच का अंतर होती है .
  • हमारे आलस्य की सजा सिर्फ हमारी असफलता नहीं है ; दूसरों की सफलता भी है .

  • ऊँचा उठना है तो, अपने अंदर के अहंकार को निकालकर, स्वयं को हल्का कीजिये क्योंकि ऊँचा वही उठता है जो हल्का होता है।

  • सफलता का रास्ता बना बनाया नहीं मिलता, स्वंय बनाना पड़ता है। जिसने जैसा मार्ग बनाया, उसे वैसी ही मंजिल मिलती है।

  • वह व्यक्ति सफलता की कीमत कभी नही समझ सकता, जो कभी असफल नही हुआ ।
  • असफ़लता अनाथ होती है, मगर सफलता के माँ, बाप, रिश्तेदार दोस्त सभी होते है

  • स्थायी सफलता के बीज बोने के लिए, विफलता का मौसम सर्वोत्तम समय है क्योंकि विफलता के बाद सुनियोजित हो कर किए गए प्रयास ही सच्ची सफलता लाते  है l

  • सफल व्यक्तियों के सींग नहीं होते ! यानी आप भी सफल हो सकते हैं ! कोशिश करें :)

  • मेरा सच- मुच ये मानना है कि जिस चीज को आप चाहते हैं उसमे असफल होना जिस चीज को आप नहीं चाहते उसमे सफल होने से बेहतर है.

  • हमेशा याद रखिये कि सफलता के लिए किया गया आपका अपना संकल्प किसी भी और संकल्प से ज्यादा महत्त्व रखता है.

  • हारना सबसे बुरी विफलता नहीं है. कोशिश ना करना ही सबसे बड़ी विफलता है

  • सफलता का एक आसान फार्मूला है, आप अपना सर्वोत्तम दीजिये और हो सकता है लोग उसे पसंद कर लें.

  • बार बार असफल होने पर भी उत्साह ना खोना ही सफलता है .

  • यदि हार की कोई सम्भावना ना हो तो जीत का कोई अर्थ नहीं है .

क्या खुदा सिर्फ तुम्हारा है, हमारा नही ?

चल मेरे हमनशीं चल अब इस चमन मे अपना गुजारा नही,
बात होती गुलोँ तक तो सह लेते हम अब तो काँटो पे हक़ भी हमारा नही”
“कभी चाहा तुझे ऐसा की रब जैसा पूजा, किस जगह मैने तुझे पुकारा नही,
यु दर्द देकर क्या मिला तुजे? कह देते की तुमसे मिलना अब गँवारा नही”
“अब चला हु घर से ये सोचकर कि इस साहिल का कोई किनारा नही,
ढुंढुगा उसे ईस नजर से ना पा सका तो अब कोई नजारा नही”
ऍ जालिमो अपनी किस्मत पे इतना नाज ना करो.
वक्त तो बदलता ही रहता है,
वो सुनेगा यकीँनन सदाऐँ ” अकेले की,
क्या खुदा सिर्फ तुम्हारा है, हमारा नही?

वंदे मातरम् (Immortal story )

सुजलाम, सुफलाम, मलयज शीतलाम्,
शस्य श्यामलाम मातरम |
शुभ्र ज्योत्सना पुलकित यामिनीम्,
फुल्ल कुसमित द्रुमदल शोभिनीम्
सुहासिनीम सुमुधुर भाषिणीम्
सुखदाम वरदाम मातरम् |
वंदे मातरम् ||
कोटि-कोटि कंठ कल-कल निनाद कराले,
कोटि-कोटि भुजैधृत खर कर वाले |
अबला केनो मां एतो बले
बहुबल धारिणीम् नमामि तारिणीम्,
रिपुदल वारिणीम मातरम् |
वंदे मातरम् ||
तुमि विद्या तुमि धर्म, तुमि हृदि तुमि मर्म,
त्वं हि प्राणाः शरीरे
बाहुते तुमि मां शक्ति, हृदये तुमि मां भक्ति
तोमारई प्रतिमा गड़ि मन्दिरे-मन्दिरे
वंदे मातरम् ||
त्वं हि दुर्गा दशप्रहरण धारिणी
कमला कमल-दल विहारिणी
वाणी विद्यादायिनी नमामि त्वाम्
नमामि कमलाम्, अमलाम्, अतुलाम्,
सुजलाम्, सुफलाम्, मातरम्,
वंदे मातरम् ||
श्यामलाम्, सरलाम्, सुस्मिताम्, भूषिताम्
धारिणीम भरणीम मातरम्|
वंदे मातरम् ||
ब्रिटिश शासन के दौरान देशवासियों के दिलों में गुलामी के खिलाफ आग भड़काने वाले सिर्फ दो शब्द थे- 'वंदे मातरम्'। आइए बताते हैं इस क्रांतिकारी, राष्ट्रभक्ति के अजर-अमर गीत के जन्म की कहानी -
बंगाल के महान साहित्यकार श्री बंकिमचंद्र चट्टोपाध्याय के ख्यात उपन्यास 'आनंदमठ' में वंदे मातरम् का समावेश किया गया था। लेकिन इस गीत का जन्म 'आनंदमठ' उपन्यास लिखने के पहले ही हो चुका था। अपने देश को मातृभूमि मानने की भावना को प्रज्वलित करने वाले कई गीतों में यह गीत सबसे पहला है।
'वंदे मातरम्' के दो शब्दों ने देशवासियों में देशभक्ति के प्राण फूँक दिए थे और आज भी इसी भावना से 'वंदे मातरम्' गाया जाता है। हम यों भी कह सकते हैं कि देश के लिए सर्वोच्च त्याग करने की प्रेरणा देशभक्तों को इस गीत से ही मिली। पीढ़ियाँ बीत गई पर 'वंदे मातरम्' का प्रभाव अब भी अक्षुण्ण है। 'आनंदमठ' उपन्यास के माध्यम से यह गीत प्रचलित हुआ। उन दिनों बंगाल में ‘बंग-भंग’ का आंदोलन उफान पर था। दूसरी ओर महात्मा गाँधी के असहयोग आंदोलन ने लोकभावना को जाग्रत कर दिया था।
बंग भंग आंदोलन और असहयोग आंदोलन दोनों में 'वंदे मातरम्' ने प्रभावी भूमिका निभाई। स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के लिए यह गीत पवित्र मंत्र बन गया था।
बंकिम बाबू ने 'आनंदमठ' उपन्यास सन् 1880 में लिखा। कलकत्ता की 'बंग दर्शन' मासिक पत्रिका में उसे क्रमशः प्रकाशित किया गया। अनुमान है कि 'आनंदमंठ' लिखने के करीब पाँच वर्ष पहले बंकिम बाबू ने 'वंदे मातरम्' को लिख दिया था। गीत लिखने के बाद यह यों ही पड़ा रहा। पर 'आनंदमठ' उपन्यास प्रकाशित होने के बाद लोगों को उसका पता चला।
इस संबंध में एक दिलचस्प किस्सा है। बंकिम बाबू 'बंग दर्शन' के संपादक थे। एक बार पत्रिका का साहित्य कम्पोज हो रहा था। तब कुछ साहित्य कम पड़ गया, इसलिए बंकिम बाबू के सहायक संपादक श्री रामचंद्र बंदोपाध्याय बंकिम बाबू के घर पर गए और उनकी निगाह 'वंदे मातरम्' लिखे हुए कागज पर गई।
कागज उठाकर श्री बंदोपाध्याय ने कहा, फिलहाल तो मैं इससे ही काम चला लेता हूँ। पर बंकिम बाबू तब गीत प्रकाशित करने को तैयार नहीं थे। यह बात सन् 1872 से 1876 के बीच की होगी। बंकिम बाबू ने बंदोपाध्याय से कहा कि आज इस गीत का मतलब लोग समझ नहीं सकेंगे। पर एक दिन ऐसा आएगा कि यह गीत सुनकर सम्पूर्ण देश निद्रा से जाग उठेगा।
इस संबंध में एक किस्सा और भी प्रचलित है। बंकिम बाबू दोपहर को सो रहे थे। तब बंदोपाध्याय उनके घर गए। बंकिम बाबू ने उन्हें 'वंदे मातरम्' पढ़ने को दिया। गीत पढ़कर बंदोपाध्याय ने कहा, 'गीत तो अच्छा है, पर अधिक संस्कृतनिष्ठ होने के कारण लोगों की जुबान पर आसानी से चढ़ नहीं सकेगा।' सुनकर बंकिम बाबू हँस दिए। वे बोले, 'यह गीत सदियों तक गाया जाता रहेगा।' सन् 1876 के बाद बंकिम बाबू ने बंग दर्शन की संपादकी छोड़ दी।
सन् 1875 में बंकिम बाबू ने एक उपन्यास 'कमलाकांतेर दफ्तर' प्रकाशित किया। इस उपन्यास में 'आभार दुर्गोत्सव' नामक एक कविता है। 'आनंदमठ' में संत-गणों को संकल्प करते हुए बताया गया है। उसकी ही आवृत्ति 'कमलाकांतेर दफ्तर' के कमलकांत की भूमिका निभाने वाले चरित्र के व्यवहार में दिखाई देती है। धीर-गंभीर देशप्रेम और मातृभूमि की माता के रूप में कल्पना करते हुए बंकिम बाबू गंभीर हो गए और अचानक उनके मुँह से 'वंदे मातरम्' शब्द निकले। यही इस अमर गीत की कथा है।
सन् 1896 में कलकत्ता में काँग्रेस का राष्ट्रीय अधिवेशन हुआ। उस अधिवेशन की शुरुआत इसी गीत से हुई और गायक कौन थे पता है आपको? गायक और कोई नहीं, महान साहित्यकार स्वयं गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर थे। कितना भाग्यशाली गीत है यह, जिसे सबसे पहले गुरुदेव टैगोर ने गाया।
यह भी माना जाता है कि बंकिम बाबू एक कीर्तनकार द्वारा गाए गए एक कीर्तन गीत 'एसो एसो बंधु माघ आँचरे बसो' को सुनकर बेहद प्रभावित हुए। गीत सुनकर गुलामी की पीड़ा का उन्होंने तीव्र रूप से अनुभव किया।
इस एक गीत ने भारतीय युवकों को एक नई दिशा-प्रेरणा दी, स्वतंत्रता संग्राम का महान उद्देश्य दिया। मातृभूमि को सुजलाम्-सुफलाम् बनाने के लिए प्रेरित किया। 'वंदे मातरम्।' इन दो शब्दों ने देश को आत्मसम्मान दिया और देशप्रेम की सीख दी। हजारों वर्षों से सुप्त पड़ा यह देश इस एक गीत से निद्रा से जाग उठा। तो ऐसी दिलचस्प कहानी है वंदे मातरम् गीत की।

Smart Goal

If you ask most people what is their one major objective in life, they would probably give you a vague answer, such as, "I want to be successful, be happy, make a good living," and that is it. They are all wishes and none of them are clear goals.
Goals must be SMART:
1. S--specific. For example, "I want to lose weight." This is wishful thinking. It becomes a goal when I pin myself down to "I will lose 10 pounds in 90 days."
2. M--must be measurable. If we cannot measure it, we cannot accomplish it. Measurement is a way of monitoring our progress.
3. A--must be achievable. Achievable means that it should be out of reach enough to be challenging but it should not be out of sight, otherwise it becomes disheartening.
4. R--realistic. A person who wants to lose 50 pounds in~30 days is being unrealistic.
5. T--time-bound. There should be a starting date and a finishing date.

Enjoy the life because , you don't get another

Life is like a coin, you can spend it anyway you want but you can only spend it once.
Every single thing that has ever happened in your life is preparing you for a moment that is yet to come.

अतीत कभी नहीं भूला

___अतीत कभी नहीं भूला___

बिल गेटस सुबह के नाश्ते के लिए एक रेस्टोरेंट में पहुंचे।
जब उन्होंने नाश्ता समाप्त कर लिया और वेटर बिल ले आया, तब उन्होंने भुगतान के अलावा पांच डालर बतौर टिप टृे में रख दिए।
वेटर ने टिप तो ले लिया पर उसके मुंह पर आया हुआ आश्चर्य का भाव गेटस की दृष्टि से ओझल न रह सका।
उसी को भांपते हुए उनहोंने पूछा–क्या कोई खास बात है?
वेटर ने कहा– जी, अभी दो दिन पहले की बात है इसी मेज पर आपकी बेटी ने लंच किया और मुझे बतौर टिप पांच सौ डालर दिये थे और आप उनके पिता दुनिया के सबसे अमीर आदमी होने के बावजूद मुझे केवल पांच डालर दिये हैं।
मुस्कुराते हुए गेटस बोले– हां, क्योंकि वह दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति की बेटी है और मैं एक लकडहारे का बेटा हुं।
मुझे अपना अतीत सदा याद रहता है,
क्योंकि वह मेरा सर्वोत्तम मार्गदर्शक है।

Too much can, hurt you so much

Don't trust too much, don’t hope too much because that “too much” can hurt you so much.

My Attitude

My attitude depends on the people in front of me
Someone Asked me what is UR attitude…… then i simply replied… ” BEING SINGLE IS MY ATTITUDE…

हमारी नई पोस्ट को Email द्वारा पाने के लिए अपना Email address डालें